नये तैयार गारमेण्ट का अधिक से अधिक स्टॉक करने में जुटे रिटेलर्स

मुंबई/ रमाशंकर पाण्डेय
गारमेण्ट की बिक्री धीमी है। बाजारों में अपेक्षा अनुकूल ग्राहकी नहीं चल रही है लेकिन गारमेण्ट इकाईयों में कपड़ों की मांग लगातार बढ़ रही है। इकाईयों के पास भरपूर आर्डर होने की जानकारी मिल रही है। टेक्सटाइल उद्योग में, विशेषकर गारमेण्ट उद्योग के विकास की अच्छी संभावना है। विकास की सफ लता पर ही टेक्सटाइल उद्योग का सारा दारोमदार है। कच्चे माल की दरों में हुई भारी वृद्धि के बाद कपड़ा सहित गारमेण्ट के भाव बढ़े हैं। रिटेल स्टोरों में चल रहा डिस्काउंट अब बंद कर दिया गया है। गणेश उत्सवों के बाद बाजार में जोरदार ग्राहकी रहने का अनुमान लगाया जा रहा है, इसलिए रिटेलर्स का ध्यान सीजन के लिए नये तैयार गार्मेंट का अधिक से अधिक स्टॉक करने पर है।  इसलिए इन दिनों में देशी और आयातित दोनों सूटिंग और शर्टिंग में गारमेण्र्टों की मांग है। शर्टिंग में 58'' पना गारमेण्टों के अनुकूल होने से इसकी मांग अधिक है। लेडीज ड्रेस मटीरियल की भी मांग अच्छी है। गारमेण्र्टों की कोशिश सीजन की मांग निकलने से पहले भरपूर उत्पादन करने की है, कारण कि रिटेलर्स के पास पुराना स्टॉक अधिक नहीं रह गया है। नये स्टॉक बढ़े भाव के साथ आ रहे हंै। यदि आगे कपड़ों के भाव और नहीं बढ़ते हैं, तो इस भाव वृद्धि को अच्छी ग्राहकी के बल पर बाजार पचा लेने में समर्थ होगा। निर्यात मोर्चे पर भी गारमेण्ट की अच्छी संभावना लग रही है। रूस एवं यूकेन के बीच चल रहे युद्व का देश के कपड़ों एवं गारमेण्ट कारोबार पर कोई विपरीत असर नहीं पड़ा है। लूज गारमेण्ट को पैकेज्ड कमोडिटी के नियमों से मुक्ति मिल गई है। इसका लाभ उन गारमेण्ट एवं होजरी उत्पादकों को होगा, जो इसकी खुदरा बिक्री करते हैं। सरकार ने कुछ दिन पहले ही एक अधिसूचना जारी कर इस बारे में स्पष्टता कर दी है, कारण कि खरीदी करने से पहले उत्पाद की जांच करे तब इस तरह की बिक्री करने पर यह मुद्दा उठता था और ग्राहक गारमेण्ट की खरीद करते समय उसे छू कर, अनुभव कर और अधिकतर मामले में पहनकर देखा करते हैं। पैक स्थिति में ग्राहक खरीदे, तो उत्पाद को देख नहीं सकता है, इसलिए इस तरह के उत्पाद को पैकेज्ड कमोडिटी में शामिल नहीं करना चाहिए। सरकार की अधिसूचना के बाद गारमेण्ट की बिक्री करने में सुविधा होगी।


Textile World

Advertisement

Tranding News

गारमेण्ट में कामकाज सुधरा
Date: 2022-07-11 10:54:30 | Category: Textile
कॉटन आयात शुल्क मुक्त 
Date: 2022-04-22 10:45:18 | Category: Textile
कपड़े में तेजी बरकरार
Date: 2022-04-07 12:36:42 | Category: Textile
बाजार में हलचल आरंभ 
Date: 2022-02-23 17:14:55 | Category: Textile
कपड़ा बाजार खुला 
Date: 2021-06-25 11:16:44 | Category: Textile

© TEXTILE WORLD. All Rights Reserved. Design by Tricky Lab
Distributed by Tricky Lab