आगामी महिनों में जोरदार कारोबार की संभावना

मिलों द्वारा बुकिंग डिस्प्ले जोरों पर
नई दिल्ली/ राजेश शर्मा
हालांकि गत पखवाड़े के दौरान भी दिल्ली कपड़ा बाजार में कारोबार कमजोर ही बना रहा लेकिन मिलों द्वारा आगामी सीजन के लिए बुकिंग, डिस्प्ले आदि के दौर और व्यापारियों के उत्साह को देखते हुए जल्दी ही बाजार में कोविड-19 पूर्व की स्थिति लौटने की संभावना लग रही है। बाजार में धन की तंगी बराबर बनी हुई है तथा इसमें किसी प्रकार की सुधार का अनुमान नहीं है। उलेखनीय है कि फरवरी 2020 के बाद कोविड-19 को रोकने के लिए सरकार द्वारा उठाए गए कदमों और इसकी प्रतिक्रिया में पैदा हुई स्थिति के कारण कपड़ा सहित सभी बाजार बुरी तरह प्रभावित हुए थे और करोबार लगभग चौपट हो गया था।
बहरहाल, अब बाजार में दोबारा उत्साह नजर आ रहा है। जहां मिलें और फैब्रिक निर्माता आगामी सीजन के लिए डिस्प्ले और बुकिंग आदि कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर खुदरा और थोक व्यापारियों में भी उत्साह नजर आ रहा है। लगभग सभी सूटिंग मिलों ने खुदरा व्यापारियों का आकर्षित करने के लिए स्कीमों की घोषणा की हुई है, जिसमें नकद प्रोत्साहन के अतिरिक्त विदेशों की सैर भी है। कुछ मिलें दिल्ली में बुकिंग कर रही हैं तो कुछ मिलें दिल्ली से बाहर विभिन्न पर्यटक स्थलों पर बुकिंग कर रही हैं।
भाव वृद्धि रुकी लेकिन.....
हालांकि बाजार की स्थिति और कच्चे माल यानि यार्न आदि की कीमतों को देखते हुए मिलों और कपड़ा निर्माताओं ने भाव वृद्धि का सिलसिला रोक दिया था, लेकिन बाजार में किसी भारी कमी के समाचार नहीं आ रहे हैं। 
हालांकि कॉटन के भाव कुछ कम तो हुए हैं, लेकिन गत वर्ष की तुलना में काफी ऊपर बने हुए हैं। कॉटन यार्न में भी कमी आई है। व्यापारियों के अनुसार सिंथेटिक यार्न में पहले भाव कम हुए थे, लेकिन विगत दिनों इसमें सुधार हुआ है। डॉलर की तुलना में रुपया काफी कमजोर होने के बाद कुछ सुधरा है, फिर भी भाव के बारे में असमंजस की स्थिति बनी हुई है। 
अधिकांश व्यापारियों का मानना है कि ऐसा नहीं लगता कि आगामी दिनों में कॉटन या सिंथेटिक फैब्रिक के भाव में कुछ कमी होगी।
इसी बीच सिंथेटिक सूटिंग और शर्टिंग मिलों द्वारा बुकिंग का दौर जारी हैै। रेमंड, सियाराम के अतिरिक्त ग्राडो, डोनियर, रीड एंड टेलर, फैशन फ्लेयर आदि ने अच्छी बुकिंग की है। कुछ मिलें स्कीम आदि भी दे रही हैं। व्यापारियों का मानना है कि इस वर्ष शीतकालीन सीजन में अच्छी संख्या में वैवाहिक तिथियां हैं और इसे देखते हुए सूटिंग, शर्टिंग, पोलीवूल आदि की अच्छी मांग आने का अनुमान है, क्योंकि कोविड-19 भी अब कम होता जा रहा है।
ऑफ  सीजन होने के कारण इस समय वैवाहिक साडिय़ों, लहंगा-चुन्नी आदि की मांग कमजोर है, लेकिन सावन आदि के लिए सिंथेटिंक साडिय़ों की मांग आ रही है। उम्मीद है कि आगामी दिनों में अच्छी मांग आएगी और इसे देखते हुए ही थोक व खुदरा व्यापारी तैयारी कर रहे हैं।
लेडीज सूट और डे्रस मेटीरियल में थोक व खुदरा मांग में सुधार हुआ है। हालांकि लेडिज सूट की मांग कमजोर है, लेकिन सिंथेटिक और वैवाहिक सूटों की मांग बनी हुई है। व्यापारियों के अनुसार जल्दी ही पशमीना आदि की मांग भी आने का अनुमान है। बुटिक वालों की मांग भी आ रही है।
कॉटन आईटम- इस समय कॉटन आईटमों की केवल सीमित मांग है। 


Textile World

Advertisement

Tranding News

गारमेण्ट में कामकाज सुधरा
Date: 2022-07-11 10:54:30 | Category: Textile
कॉटन आयात शुल्क मुक्त 
Date: 2022-04-22 10:45:18 | Category: Textile
कपड़े में तेजी बरकरार
Date: 2022-04-07 12:36:42 | Category: Textile
बाजार में हलचल आरंभ 
Date: 2022-02-23 17:14:55 | Category: Textile
कपड़ा बाजार खुला 
Date: 2021-06-25 11:16:44 | Category: Textile

© TEXTILE WORLD. All Rights Reserved. Design by Tricky Lab
Distributed by Tricky Lab