कपड़े में तेजी बरकरार

अधिकतर कपड़ा उत्पादकों का स्टॉक खाली हुआ
भीलवाड़ा/ कमलेश व्यास

विगत माह से घरेलू एवं निर्यात बाजार में निकली व्यापक मांग के चलते कई दिनों का जमा स्टॉक खाली हो चुका है फिलहाल उद्यमियों के पास माल नहीं होने से ऑर्डर पूरे नहीं कर पा रहे हैं। बाजार सूत्रों के अनुसार अंतरराष्ट्रीय घटनाक्रम से पेट्रोलियम व रा मटेरियल भी महंगा हुआ है, जिससे यार्न में 2-3 रुपए की ओर तेजी आई है। स्थानीय मंडी में फिलहाल हल्के मालों में डिमांड नहीं है, केवल क्वालिटी फैब्रिक बिक रही है, होलसेलर अपने क्षेत्र के अनुसार सधे रूप में कपड़ा मंगवा रहे है। पिछले माह में बेहतर डिमांड के चलते कई उद्योग के स्टॉक निकल चुके हैं एवं वर्तमान में यह स्थिति हो चुकी है कि माल उपलब्ध नहीं है। कुछ सेगमेंट के मालों में कोरोना वायरस से ही कम डिमांड एवं भाव नहीं बढऩे से अधिकतर उद्यमियों ने माल बनाना बंद कर दिया था जिससे अब निकली डिमांड पर माल मंडी में उपलब्ध ही नहीं है। 
एक्सपोर्ट क्षेत्र में डिमांड निकलने से मंडी में घरेलू बाजार के साथ निर्यातकों को भी बेहतर व्यापार मिल रहा है। वीविंग पिछले पखवाड़े से ही ऊंची दरों पर है, जो फिलहाल यथावत चल रहा है। यूनिफॉर्म सेक्टर में फैब्रिक की डिमांड रफ्तार पकड़ चुकी है।
बांसवाड़ा सिंटेक्स के स्थानीय सप्लायर श्री बीजी झंवर ने बताया कि आगे लग्न शुरू होने एवं यूनिफॉर्म फैब्रिक की डिमांड भरपूर निकलने से इंडस्ट्री को जबरदस्त कारोबार मिलेगा। उन्होंने कहा कि फैंसी में ऊंची क्वालिटियों में बेहतर डिमांड है।
मंगलम यार्न के प्रबंधक श्री संदीप बागड़ोदिया ने कहा कि आगे शादियां बहुत हैं, जिससे डिमांड बेहतर रहने की उम्मीद है। हालांकि व्यापारी डरे हुए भी हैं कि रेट घटेगी लेकिन समय पर माल नहीं मंगा पाए तो क्या बेचेंगे? इसके चलते संतुलन बनाते हुए माल बुक करा रहे हैं। आगामी 2 से 3 महिने तो व्यापार रेगुलर चलेगा क्योंकि लग्न एवं यूनिफॉर्म की ग्राहकी चलेगी। फिलहाल मंडी में मार्लों की शॉर्टेज है, अत: दरें तो घटेगी नहीं। जब तक रुकेगा नहीं, तब तक झुकेगा नहीं की सोच बनी रहेगी। पिछले पखवाड़े से यार्न दरें तुलनात्मक रूप से 5 से 7  प्रतिशत बढ़ी है।
ए के स्पिनटेक्स प्रोसेस गृह - के टेक्निकल प्रेसिडेंट श्री अरुण सिंह वर्तमान स्थिति के बारे में बताते हैं कि मालों की आवक अधिक मात्रा में आ पहुंची है, डिस्पैच बेहतर है, व्यापारियों का लगभग 70 प्रतिशत पुराना स्टॉक खाली हो चुका है। कपड़े में फिलहाल लय बैठ चुकी हैं, जिसमें फैंसी गवर्नमेंट सेक्टर एवं यूनिफॉर्म में अब रफ्तार बनी है। कोयले में क्राइसिस चलने से दिक्कत आ रही है, क्योंकि कभी नागौर की का कोयला सप्लाई बंद हो जाता है और बीकानेर का कोयला क्वालिटी के लिहाज से उपयुक्त नहीं है।


Textile World

Advertisement

Tranding News

गारमेण्ट में कामकाज सुधरा
Date: 2022-07-11 10:54:30 | Category: Textile
कॉटन आयात शुल्क मुक्त 
Date: 2022-04-22 10:45:18 | Category: Textile
कपड़े में तेजी बरकरार
Date: 2022-04-07 12:36:42 | Category: Textile
बाजार में हलचल आरंभ 
Date: 2022-02-23 17:14:55 | Category: Textile
कपड़ा बाजार खुला 
Date: 2021-06-25 11:16:44 | Category: Textile

© TEXTILE WORLD. All Rights Reserved. Design by Tricky Lab
Distributed by Tricky Lab