बाजार में हलचल आरंभ 

आगामी दिनों में अच्छे कारोबार की आशा, फैब्रिक में भारी भाव वृद्धि

नई दिल्ली/ राजेश शर्मा
दिल्ली कपड़ा बाजार में दिसम्बर-जनवरी के दौरान छाया सन्नाटा अब टूटने लगा है तथा गत  कोविड-19 के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए लागू किया मिनी लोकडाउन समाप्त होने के बाद बाजार में हलचल बढऩी आरंभ हो गई है तथा व्यापारियों को आशा है कि आगामी दिनों में कारोबार में तेजी से सुधार होगा, क्योंकि फ रवरी से अप्रैल के दौरान वैवाहिक तिथियां काफ ी संख्या में हैं। इसी बीच, बाजार में भाव वद्धि का सिलसिला एक बार फिर आरंभ हो गया है क्योंकि जहां कॉटन के भाव बढ़ रहे हैं, वहीं कच्चे तेल के भाव 7 वर्ष के रिकॉर्ड स्तर पर पहुंचने के कारण सिंथेटिक यार्न में भी तेजी आ रही है। मिनी लॉकडाऊन समाप्त होने के बाद बाजार में कारोबार के हालात तेजी से सामान्य होते नजर आ रहे हैं। दिल्ली सरकार द्वारा विवाह-शादियों में अतिथियों की संख्या बढ़ाकर 200 कर दिए जाने से आगामी दिनों में कपड़े की अच्छी मांग निकलने का अनुमान है। सिंथेटिक सूटिंग में कारोबार में सुधार हुआ है। हालांकि रिटलरों की मांग फिलहाल सीमित है, लेकिन रेडीमेड निर्माताओं की मांग अच्छी बनी हुई है और वे आगामी सीजन की तैयारी कर रहे हैं। उपभोक्ता का रुझान भी अब रेडीमेड की तरफ  अधिक हो रहा है, जबकि कांऊटर मांग कम है। बाजार के रुख को देखते हुए मिलें, एजेंट या थोक व्यापारी बुकिंग में सतर्कता बरत रहे हैं और रिटेलर पर कोई दबाव नहीं डाल रहे हैं। जिन मिलों ने बुकिंग का आयोजन किया उन्हें भी कोई खास रिस्पोंस नहीं मिल पाया है। बहरहाल आगामी दिनों में मांग आने की आशा से थोक व्यापारी तैयारी कर रहे हैं। शर्टिंग में कारोबार सीमित रहा, जबकि निर्माता समर सीजन की तैयारी में जुटे हैं। सिंथेटिक और वैवाहिक साडिय़ों की मांग में सुधार हो रहा है तथा आगामी दिनों में अच्छा उठाव आने का अनुमान है और व्यापारी उसे देखते हुए ही अपनी तैयारी कर रहे हैं।
कॉटन में मांग अच्छी लेकिन
आगामी समर सीजन को देखते हुए कॉटन में अच्छी मांग है, लेकिन भाव को लेकर व्यापारी सतर्क हैं। गत वर्ष में कॉटन के भाव थोक बाजार में लगभग डबल हो जाने से यार्न के भाव भी तेज हुए हैं और इसका असर फैब्रिक पर आया है। नए फ सल की कॉटन बाजार में आने के बाद भी इसके भाव में कोई कमी नहीं आई, अपितु तेजी ही आई है। इससे निर्माता और व्यापारी परेशान हैं। भाव वृद्धि के बावजूद बुटिक और रेडीमेड गारमेण्ट निर्माताओं की कॉटन आइटमों में अच्छी मांग है। 40 बाई 40, 60 बाई 60 और 80 बाई 80 
फ ाइन कॉटन में काफी तेजी आ चुकी है। भाव वृद्धि के बावजूद अनेक कॉटन आईटमों की बाजार में कमी बनी हुई है। बताया जाता है कि नई फसल आने पर भाव में कमी आने की आशा से मिलों ने पहले कॉटन या यार्न की खरीद नही की और अब उनके पास स्टॉक की कमी है। बुटिक वालों की अरविंद की लॉन, कैम्ब्रिक, लाइक्रा आदि में अच्छी मांग है। राहुल टे्रडिंग कम्पनी के श्री हरिभाई के अनुसार लेडीज वीयर के लिए हाल ही में अरविंद ने निटिंग में एक नई वैरायटी तैयार की है। बड़े हुए भाव में भी पोपलीन आदि में भी अच्छी मांग है।
 


Textile World

Advertisement

Tranding News

गारमेण्ट में कामकाज सुधरा
Date: 2022-07-11 10:54:30 | Category: Textile
कॉटन आयात शुल्क मुक्त 
Date: 2022-04-22 10:45:18 | Category: Textile
कपड़े में तेजी बरकरार
Date: 2022-04-07 12:36:42 | Category: Textile
बाजार में हलचल आरंभ 
Date: 2022-02-23 17:14:55 | Category: Textile
कपड़ा बाजार खुला 
Date: 2021-06-25 11:16:44 | Category: Textile

© TEXTILE WORLD. All Rights Reserved. Design by Tricky Lab
Distributed by Tricky Lab