अधिकतर राज्यों में अनलॉक से मण्डी में होने लगी पूछपरख

कोयला एवं डाई केमिकल के भाव आसमान पर
भीलवाड़ा/ कमलेश व्यास

कोरोना के केस में आई कमी से अधिकतर राज्य अपनी गाईडलाइन में बाजार खोलने की शुरूआत कर चुके है।  बाजार सूत्रों के अनुसार स्थानीय मण्डी में उद्यमी आगामी सीजन के अनुसार प्लानिंग में लगे हैं। कुछ रूटिन ग्राहकी की डिमाण्ड शुरू हुई है व दिशावर से व्यापारी मण्डी में आने की शुरूआत करने लगे हैं, हाँलाकि उद्यमी मान रहे हैं कि प्रोपर डिमाण्ड 15 अगस्त के बाद ही आयेगी। वर्तमान में घरेलु बाजार की डिमाण्ड बेहतर नहीं होने से उद्यमी वीविंग के दाम भी नहीं बढ़ा पा  रहे है, क्योंकि इण्डस्ट्री को चलाए रखना है। इसी वजह से डबल विर्थ में भी 10 पैसे में उत्पादन हो रहा है, लेकिन डिमाण्ड आते ही वीविंग 15-16 तक पंहुचेगी। इधर प्रोसेस गृहों की स्थिति भी अच्छी नहीं है क्योंकि इण्डोनेशिया की कोल खदानों पर चायना की कम्पनियों ने काम शुरू करने से दाम बढ़ा दिये हैं और डाई केमिकल की चायना से ही सप्लाई होने से रेट्स काफी बढ़ा दिये हैं। इससे प्रोसेस गृहों में भी शीघ्र रेट बढ़ेगी। यार्न बाजार पहले से ही ऊंची दरों पर टिका हुआ हैं, जिसमें फैब्रिक की दरें निश्चित तौर पर बढ़ेगी। जैसे जैसे सामान्य स्थिति होगी, उसी हिसाब से घरेलू मांग निकलेगी। वर्तमान में यार्न 2/30-227 रू एवं 2/30 पीवी ग्रे- 185 रू अच्छी मिलों का बिक रहा है। कई उद्यमियों को अपनी मार्केटिंग में सुहाना स्लब, लाइक्रा, नोन लाइक्रा, लेडिज पेण्ट व ट्राउजर के साथ ही स्पन बेस कपड़ा सेल कर रहे हैं।
ए.के स्पिनटेक्स- प्रोसेस गृह के टेक्निकल प्रेसीडेण्ट श्री अरूण सिंह ने बताया कि प्रोसेस गृहों में लगभग 70 प्रतिशत तक कार्य हो रहा है परन्तु फिलहाल मिलों से माल कम ही आ रहा है। आने वाले समय में प्रोसेस गृहों पर आर्थिक रूप से बड़ा पे्रशर बनेगा क्योंकि जो कोयला जो इण्डोनेशिया से आ रहा था, उस पर चाईनीज़ कम्पनियों का कोलिब्रेशन हो गया और कोयले की दरें काफी बढ़ गई हैं एवं डाई केमिकल भी चायना से ही सप्लाई होने से दरें आसमान पर हैं। इधर वर्कर्स की भी समस्या आने लगी है। अब आगामी सीजन लगन, तीज त्यौहार एवं स्कूल युनिफॉर्म से उम्मीद है, जिसमें प्रोपर कार्य पटरी पर आने की उम्मीद है।
डी के एजेंसी- ख्यातनाम कपड़ा एजेन्सी डी.के. के ऑनर श्री डी.के चौधरी ने मण्डी के बारे बताया कि लोकडाउन के दौरान घरेलू बाजार में तो कार्य काफी निचले स्तर पर पहुंचा, परंतु निर्यात क्षेत्र में कारोबार बेहतर रहा। अब शनै:शनै: देश में हालात सुधर रहे हैं एवं मण्डियां खुलने लगी हैं परन्तु प्रोपर सेल आने में लगभग एक महिना लग जायेगा और आगे अच्छा व्यापार होगा। वर्तमान में छुटपुट पूछपरख चालु हो गई है, व्यापारी प्लानिंग करने लगे हैं। यह समय गुजर जायेगा और व्यापार बेहतर होगा। इन्होंने बताया कि स्थानीय मण्डी में स्कूल युनिफॉर्म का कार्य बड़ी तादाद में होता था, जिसमें पिछले दो सत्र से कार्य नहीं है लेकिन हालात सुधरने के पश्चात सभी तरह की यूनिफॉर्म पुन: डिमाण्ड में आयेगी, क्योंकि पिछले दो वर्षों में बच्चों के शारीरिक मापदण्ड बदल चुके हैं, जिसके चलते यूनिफॉर्म अब नई ही बनेगी।
बीजी झँवर- डायरेक्टर श्रीराम सिन्टेक्स - श्री झँवर ने बताया कि शनै:शनै: डिमाण्ड निकलने लगी है और आगे रक्षाबन्धन के पहले बाजार में अच्छा मोमेन्ट आयेगा, क्योंकि फिलहाल सभी राज्यों द्वारा धीरे-धीरे सभी सेक्टर खोले जा रहे हैं और जो गेप बना उसके चलते बाजार में उसकी मांग भरपूर निकलेगी। श्री झँवर ने बताया कि कई सेक्टर जिसमें आयरन, ओटोमोबाइल्स, सीमेण्ट, लहंगे, साड़ी, ड्रेस एवं बेडशीट इत्यादि में 10-15 प्रतिशत तक दरें बढ़ चुकी हैं, परंतु सूटिंग में खर्चे बढऩे के बावजूद उद्यमी रेटे बढ़ा नहीं पाये, और नाणातंगी के चलते कम दामों में भी फैब्रिक सप्लाई करते रहे परंतु अब डाइंग, कोयला एवं यार्न की आसमान छूती रेटों से कम दाम में कपड़ा बेचना संभव नहीं होगा और फैब्रिक दरें बढ़ेगी।


Textile World

Advertisement

Tranding News

गारमेण्ट में कामकाज सुधरा
Date: 2022-07-11 10:54:30 | Category: Textile
कॉटन आयात शुल्क मुक्त 
Date: 2022-04-22 10:45:18 | Category: Textile
कपड़े में तेजी बरकरार
Date: 2022-04-07 12:36:42 | Category: Textile
बाजार में हलचल आरंभ 
Date: 2022-02-23 17:14:55 | Category: Textile
कपड़ा बाजार खुला 
Date: 2021-06-25 11:16:44 | Category: Textile

© TEXTILE WORLD. All Rights Reserved. Design by Tricky Lab
Distributed by Tricky Lab