NEWS

Textile Textile Textile Textile Textile Articles Textile Textile Articles Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile
गारमेंट निर्यात मे विकास दर जारी रहने का अनुमान

गारमेंट निर्यात मे विकास दर जारी रहने का अनुमान

By: Textile World Date: 2021-01-27

नई दिल्ली / राजेश शर्मा

देश के गारमेंट उद्योग के लिए एक अच्छी खबर है कि इस गारमेंट निर्यात में वृद्धि का जो दौर आरंभ हुआ है उसके आगामी वित्त वर्ष यानि 2021-22 में भी जारी रहने का अनुमान है, यह कहना है रेटिंग एजेंसी इक्रा का। एजेंसी ने अपनी एक रिपोर्ट में कहा है कि अमेरिका और यूरोपीय समुदाय के बाजारों से मांग में सुधार आरंभ हो गया है। इसे देखते हुए गारमेंट निर्यात में वृद्धि का अनुमान है और निर्यात में गति जारी रहने की संभावना है।

यही नहीं, बड़े आयातकों या खरीददारों को चीन के बजाए दूसरे देशों से आयात पर फोकस करने का लाभ भी भारतीय गारमेंट निर्यातकों को मिलने का अनुमान है। बहरहाल, एजेंसी का कहना है कि कोविड-19 की दूसरी लहर का जोखिम अभी भी बरकरार है। उल्लेखनीय है कि गत वर्ष कोविड-19 महामारी को रोकने के लिए विश्व भर के देशों में लॉकडाउन लागू करने से आर्थिक और कारोबारी गतिविधियां ठप्प हो कर रह गई थी। इससे पूरे विश्व का गारमेंट उद्योग बुरी तरह प्रभावित हुआ था तथा केवल चीन को छोडक़र सभी प्रमुख देशों का गारमेंट उद्योग प्रभावित हुआ था। बहरहाल, अब लगभग सभी देशों से गारमेंट के निर्यात में सुधार होने लगा है। इक्रा का कहना है कि कलैंडर वर्ष 2020 में  वैश्विक गारमेंट कारोबार में सिकुडऩ के बाद अब  2021 के दौरान कोविड-19 की पूर्व की स्थिति में आने का अनुमान के साथ निकट भविष्य में एक या दो प्रतिशत की दर से बढऩे का अनुमान है, क्योंकि गत पांच वर्षो में कारोबार कुछ इसी प्रकार रहा है।

एजेंसी का यह भी कहना है कि निकट भविष्य में मात्रानुसार कारोबार में सुधार की आशा है, हालांकि मूल्यानुसार इसमें कमी की आशंका है। मूल्यानुसार कारोबार कम होने का प्रमुख कारण एक तो कच्चे माल की कीमतों में कुछ कमी होना और दूसरा कारण उपभोक्ता की प्राथमिकता में परिवर्तन होना है, क्योंकि अब वह कम कीमत के परिधानों पर ध्यान देने लगा है। इसका प्रमुख कारण उपभोक्ता की आय प्रभावित होना है।

 

घरेलू बाजार... इक्रा का मानना है कि घरेलू बाजार में विगत कुछ महिनों में गारमेंट की मांग लगभग कोविड-19 के पूर्व स्तर पर पहुंच चुकी है और इसका कारण त्यौहारी मांग में सुधार होना है, हालांकि घरेलू बाजार में गारमेंट के ऑफ लाईन कारोबार की स्थिति सामान्य होने में कुछ समय लग सकता है, लेकिन गारमेंट निर्माताओं का मानना है कि वित्त वर्ष 2021-22 (अप्रैल 21-मार्च 22) में गारमेंट के कारोबार में शानदार वृद्धि होगी। रिपोर्ट के अनुसार आवश्यक श्रेणी के परिधानों की तुलना में फॉर्मल और पार्टी वीयर परिधानों की मांग कुछ कम रहने का अनुमान है। उल्लेखनीय है कि वैवाहिक और अन्य समारोहों में मेहमानों की संख्या अब भी सीमित है और इस स्थिति को सामान्य होने में अभी समय लग सकता है, ऐसे में गारमेंट कारोबार में वृद्धि के साथ ही फैब्रिक उत्पादन में सुधार की संभावना है। इसके अलावा गारमेंट की मांग में परिवर्तन के साथ ही आगामी महीनों में निटेड फैब्रिक की खपत अधिक होने का अनुमान है।

Latest News

© Copyright 2021 Textile World