NEWS

Textile Textile Textile Textile Textile Articles Textile Textile Articles Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile
ग्रे में तेजी, आगामी सीजन से पहले की तैयारियां शुरू

ग्रे में तेजी, आगामी सीजन से पहले की तैयारियां शुरू

By: Textile World Date: 2020-09-25

अहमदाबाद/ सांवलाराम चौधरी

पिछले काफी समय से गुजरात ही नहीं पूरे भारत में अच्छी बरसात ने किसानों को अच्छी राहत दी है, जिससे व्यापारी वर्ग भी आशा लगाकर बैठा है कि आगामी समय में अच्छी फसल आने से गांव में लोगों की खरीद करने की शक्ति बढ़ेगी, इससे कपड़ा व्यापार को भी बढ़ावा मिलेगा। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच भी अब व्यापार अच्छा चल रहा है। ग्रे में काफी तेजी बताई जा रही है। आगे त्यौहारी ग्राहकी की अच्छी आशा से से व्यापारी नई वेरायटियों में माल बनाने लगे हैं।

 

जल्द ही कोरोना का टीका आने के दावे हर देश कर रहा है, जिससे ऐसा लग रहा है कि आने वाले दो चार महीनों के अंदर ही कोरोना पर काबू पाया जा सकेगा।  भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व कोरोना से परेशान है। पूरे विश्व के देशों की जीडीपी न्यूनतम स्तर पर आ रही है। उद्योग धंधे पर लगे लोगों की नौकरियां काफी प्रभावित हो रही है। कोरोना पर जल्दी काबू पाना बहुत ही जरूरी है। यहां किसानी कपड़ा बाजार में पेमेंट की काफी कमी है बाहर से पेमेंट नहीं आ रही है, मगर ग्राहकी अच्छी चालू हो गई है। सूटिंग शर्टिंग, रेडीमेड, जींस, शर्ट का बाजार ठंडा पड़ा था, उसमें अब दीपावली के हिसाब से अच्छी ग्राहकी बताई जा रही है। यहां के प्रोसेस हाउसों में भी अच्छा काम हो रहा है, अहमदाबाद में प्रोसेस हाउसों में काम की कोई कमी नहीं है।

 

बाजार के जानकारों के मुताबिक आने वाले समय में कपड़ा बाजार के अच्छे दिन आएंगे, क्योंकि अब धीरे-धीरे व्यापार नकद में हो रहा है। नकद का मतलब जल्दी पेमेंट आने से है। पहले व्यापारी 6 से 12 महीने की उधारी पर माल बेचते थे, मगर अब 75 प्रतिशत व्यापारियों ने उधारी से तौबा करली है। सब नकद में खरीद व बेचान करने में ही रुचि रख रहे हैं। बाजार में पैसों की तंगी लगातार चल रही है, आगे अच्छी ग्राहकी चलने से पेमेंट की आवक होने की अच्छी संभावना है।

 

यहां के बाजार में रेयोन 58’’ प्रिंट की बहुत ही ज्यादा मांग है। हर कोई यही माल बना रहा है, जिससे मुनाफे में बहुत ही कमी आ गई है, प्रतिस्पर्धा ज्यादा होने से व्यापारी परेशान हैं। रेयोंन, प्लेन 44’’ जोधपुर, बालोतरा, पाली व जयपुर से सस्ता आने से अहमदाबाद का माल कपड़े की पहचान वाला ही व्यापारी ले रहा है। अहमदाबाद में उपरोक्त मंडियों के लिए इन कपड़ों में 4 से 5 रूपये प्रति मीटर का फर्क है, मगर अहमदाबाद का कपड़ा और प्रोसेस सबसे अच्छा होने से वही ज्यादा चल रहा है।

 

अहमदाबाद के कपड़ा बाजार के सभी बाजारों में (मार्केट में) भाड़े का व दुकानों के मूल्य में बहुत गिरावट देखने को मिल रही है। 30 से 40 प्रतिशत भाड़े में गिरावट है। अब मानसून की विदाई का समय आ गया है, जिससे आगामी सीजन की अच्छी ग्राहकी की आशा है।

 

Latest News

© Copyright 2020 Textile World