NEWS

Textile Textile Textile Textile Textile Articles Textile Textile Articles Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile
उत्पादन में नए विस्तार से उद्योग उन्नति की ओर अग्रसर

उत्पादन में नए विस्तार से उद्योग उन्नति की ओर अग्रसर

By: Textile World Date: 2020-08-10

स्टिचिंग गारमेंट में कुर्ती, गाउन, सलवार सूट सदृश कई उत्पादों का निर्माण गति के साथ बढऩा औद्योगिक समृद्धि का ही सूचक है

बालोतरा/ लालचन्द पुनित

इच्छा शक्ति की प्रगाढ़ता जीवंत रहे, तो विकट विषमताओं के मध्य रास्ता बनाना कोई दुष्कर बात नहीं है। समस्याओं के सटीक निरूपण में समाधान का झरना स्वत: प्रस्फुटित हो ही पड़ेगा।  वर्तमान में विद्यमान परिस्थितियां कोरोना की भयावहता के कारण आशंका व अस्थिरता संबद्ध होने से सभी को परिणाम असफलता जनक प्रतीत होते हैं। इसके बाद भी जब उद्यमी एक निश्चित लक्ष्य को लेकर बढऩे की हिम्मत जुटा लेता है तो उसके समक्ष स्वपनों का संसार शनै: शनै: मूर्त रूप लेने लग जाता है। कोराना के वातावरण से उत्पन्न आर्थिक कठिनाइयों ने निश्चित रूप से उत्पादकों को हतोत्साहित किया, तथापि विश्वास के धागे में गुणवत्ता के मोतियों की आभा ने सुंदर भविष्य के प्रति आशान्वित किया।

 

प्रबुद्ध एवं प्रमुख उद्यमियों और से संपर्क किया तो उनका निष्कर्ष सुनहरे भविष्य का दृश्य लगा। उनके अनुसार औद्योगिक जगत में कई दुविधाएं अनायास ही उपस्थित हो जाती है और जो उद्यमी विवेकसम्मत निर्णय के साथ बिना विचलित हुए अपने ध्येय की और गतिशील रहते हैं, सफलता उनके चरण चूमने में पीछे नहीं रहती। उद्यमियों ने बेहिचक बताया कि इस क्षेत्र में रंगाई छपाई उद्योग का भविष्य तप कर निखरा है। वह समय दूर नहीं जब कतिपय उत्पादों की श्रंखला ख्याति प्राप्त करेगी, जिसके बारे में आज केवल सामान्य पद चाप की ध्वनि ही सुनाई पड़ रही है।

 

गारमेंट के क्षेत्र में जब से प्रवेश किया है, उसे भले ही प्राथमिक स्तर पर रखा जाए किंतु वर्तमान में जिन क्षेत्रों में झंडे गाड़े जा रहे हैं, वह इतने सशक्त प्रतीत हो रहे हैं कि उनकी स्थाई छाप अविच्छिन्न रूप से विद्यमान रहेगी। गारमेंट में प्रयुक्त कपड़े की शान में भी निरंतर चार चांद लग रहे हैं। नाइटी व नाइटी क्लॉथ ने तो यहां के उद्योगों में एक नया जीवन ही भर दिया है। इस ऑक्सीजन से कहीं उद्योग जो बिछड़ते नजर आ रहे थे, वह भी कुसुम लताओं सदृश खिल कर मुस्कुराहट का तोहफा देने को उद्यत हैं। भुगतान संकट का भूत भी भाग गया है। बहुत कुछ सरकारी नियमों के अनुरूप सहयोग बैंकों ने किया, वहीं ग्राहकों ने भी एक कदम आगे बढक़र पुराने पेमेंट के साथ केश पेमेंट के नए धारे में अपने आप को ढाल कर उद्योग को सशक्त बनाने में अहम भूमिका अदा की। मांग की अधिकता व माल की सभी से एडवांस पेमेंट का प्रचलन भी इन दिनों जोर-शोर पर है।

 

गारमेंट में पेटीकोट का विस्तार सभी दृष्टियों से बढ़ा है। पेटिकोट कभी एक प्रकार का बनता था, किंतु हाल में विभिन्न प्रकार के पेटीकोट के निर्माण की स्टाइल ने गजब का अवसर ला दिया है। पेटीकोट निर्माताओं की लंबी लाइन लग गई है। इतना ही नहीं, सिलाई हेतु नित नई सिलाई मशीनें आ रही है। भरपूर उत्पादन लेने को उत्पादक आतुर हैं, फिर भी तैयार माल की कमी के स्वर के रुकने का नाम नहीं है। स्टिचिंग गारमेंट में कुर्ती, गाउन, सलवार सूट सदृश कई उत्पादों का निर्माण गति के साथ बढऩा औद्योगिक समृद्धि का ही सूचक है।

पोपलीन के बाद बढ़ते गारमेण्ट के दायरे ने उत्पादन की कई मण्डियों को जोडऩे का काम किया है। प्रिण्टेड क्लॉथ सभी दृष्टिकोणों से बाजार में यहाँ का प्राथमिकता से पसंद किया जाता रहा है। आज भी इस क्षेत्र का ये माल रंग, फिनिश, फील के साथ देशभर में प्रचलित है। प्रिण्ट कभी सीमित रहा होगा मगर अब पिगमेण्ट प्रिण्ट, टाई डाई आदि अनेक प्रकार से सक्रिय है। केम्ब्रिक प्रिण्ट, रेयॉन प्रिण्ट के प्रारम्भ होने से नई दिशा का सूत्रपात हो गया है। रेयॉन प्रिण्ट/डाईड ने जो चमत्कार दिखाया है, उसकी उम्मीद कभी किसी उद्यमी को नहीं थी। रेयॉन की ग्राहकी के बारे में क्या लिखूं, लेने वालों की कतार समाप्त ही नहीं हो रही है। भावों की कोई चिकचिकाहट नहीं, माल की दरकार प्रबल है। ये रोशनी का नया प्रकाश स्तम्भ बन उभर रहा है।

 

जब भी बालोतरा जसोल के वस्त्र रंगाई-छपाई का गहन चिन्तन, अध्ययन, अनुसंधान किया जाय तो आगे के क्षेत्रीय औद्योगिक भविष्य का अनुमान सहज ही में लगाया जा सकता है। कोरोना काल के काले बादलों की छंटनी करके परिपेक्ष में यह निश्चित लगता है कि स्थानीय उद्योग में बूस्टिंग का क्रम जो चल रहा है और उससे जो आधार निर्मित हो रहा है, उसके परिणाम स्वरूप नये युग का सृजन निश्चित है।

 

घबराहट और भ्रम में  जीने वाले भले ही स्थानीय उद्योग के बारे में कुछ भी विचार रखें, किन्तु वास्तविकता के सन्दर्भ में यह स्पष्ट है कि यहाँ का रंगाई-छपाई उद्योग विस्तार की चरम सीमा को चूमने में सक्षम बनेगा। स्थानीय कतिपय प्रतिष्ठानों की जो साख वृद्धि हुई है, उनके नाम और ब्राण्ड का जो क्रेज बना है, वह बहुत कुछ कहता है। पिछले चन्द नामचीन संस्थान ही थी, किन्तु अब  तो नई अनेक औद्योगिक युनिटों ने जो कार्य कर अमिट छाप अंकित की है, उससे सहज ही में भविष्य औद्योगिक परिदृष्य के आकलन को अनुभूत किया जा सकता है। समय आने पर सभी कुछ सामने आ जायेगा।

Latest News

© Copyright 2020 Textile World