NEWS

Textile Textile Textile Textile Textile Articles Textile Textile Articles Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile
राखी पर व्यापार रहा सीमित दायरे में... आगामी सीजन पर टिकी नजर

राखी पर व्यापार रहा सीमित दायरे में... आगामी सीजन पर टिकी नजर

By: Textile World Date: 2020-08-10

अहमदाबाद/ सावंलाराम चौधरी

पिछले काफी समय से पूरा भारत ही नहीं बल्कि पूरा विश्व कोरोना से परेशान है। सब कुछ ऐसे थम गया है जैसे बर्फ जमा हुआ हो, मगर अब धीरे-धीरे सब लोग कोरोना के घेरे से बाहर निकलने लगे हैं। काफी समय के बाद राखी के त्यौहार से पहले व बाद में खुदरा बाजार में सभी प्रकार का काम का अच्छा हुआ है। कपड़े में रेडीमेड, अनस्टिच, कुर्ती, जींस, टी-शर्ट, लेडीस, जेंट्स, किड्स आदि सब वेरायटी में अच्छी चहल पहल देखी गई है, इससे खुदरा व्यापारी उत्साहित हैं। आगे भी त्यौहारी सीजन दीपावली तक है, उसके कारण बाजार में भी रौनक लौटने लगी है। अभी तक ग्रामीण क्षेत्र में ग्राहकी का इंतजार है।

काफी समय के बाद रक्षाबंधन पर बाजारों में व रास्तों पर लोगों की भीड़ देखी गई, जिससे ऐसा लग रहा है कि अब आम जनता ने कोरोना के साथ जीना सीख लिया है। अभी तक पूरे विश्व में किसी देश ने कोरोना की सफल वेक्सीन का दावा नहीं किया है, मगर साल के अंत तक इसकी दवाई आने की पूरी संभावना है। बाजार में पैसों की तंगी बराबर बनी हुई है। अब ग्राहकी में थोड़ी चहल-पहल चालू हो गई है। बरसात में देरी होने से व्यापारी चिंतित हैं मगर मौसम विभाग द्वारा अगले 10 दिनों में पूरे भारत में अच्छी वर्षा की भविष्यवाणी की गई है। अच्छी बरसात होने पर ही कृषि व कपड़ा व्यवसाय अच्छा चल सकता है।मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त को राम मंदिर का शुभारंभ करने से भी कई वर्षों से रुका हुआ राजनीतिक मुद्दा पटरी पर आता नजर आ रहा है। राम मंदिर की खुशी भारत ही अपितु नहीं पूरे विश्व में देखी जाएगी। आने वाले 3 से 4 साल में राम मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। यह भारत के लिए बड़ा ही ऐतिहासिक मौका है, जिसमें हिंदू ही नहीं बल्कि मुस्लिम व सभी धर्मों के लोग खुश हैं।

 

यहां के थोक बाजार के काफी मार्केटों में भाड़े काफी हद तक कम हो गए हैं, जिससे व्यापारियों को राहत हुई है। पुराने मार्केट जिसमें रेवड़ी बाजार, पांच कुआं, कोटनी, साकर बाजार, मस्कती मार्केट आदि बाजारों में 50 से 75 तक प्रतिशत भाड़ों में कमी आई है। अब नया बाजार न्यू क्लॉथ मार्केट व सफल के आसपास ही सेटल होता नजर आ रहा है। उधर रेडीमेड बाजार घी कांटा में भी ग्राहकी का अभाव है। सबसे ज्यादा जींस और शर्ट बनाने वाले थोक व्यापारी कोरोना से प्रभावित हुए हैं। रेडीमेड बाजार में सबसे कम ग्राहकी चल रही है। रेडीमेड में ज्यादा उधारी का समय होने से व पेमेंट समय पर नहीं आने से व्यापारी नया माल बनाने व पार्टियों को भेजने में कम ध्यान दे रहे हैं।

 

कोरोना व लोकडाउन के बाद जैसे ही यहां के प्रोसेस हाउस चालू हुए हैं, वैसे ही अच्छी रफ्तार से कम चल रहा है। सभी प्रॉसेस हाउसों में अच्छा माल भरा हुआ है। उधर सूरत में कोरोना का प्रभाव ज्यादा होने से उधर का डाइंग व प्रिंटिंग का काम अब अहमदाबाद में होता नजर आ रहा है। आगे गणपति, नवरात्रि, दशहरा व दीपावली के अच्छे व बड़े त्यौहार आ रहे हैं, जिसकी तैयारी व्यापारी पूरे जोश से कर रहे हैं। अब अच्छी बारिश होने के बाद गुजरात ही नहीं, पूरे भारत में कपड़े की अच्छी मांग बढऩे की आशा है।

Latest News

© Copyright 2020 Textile World