NEWS

Textile Textile Textile Textile Textile Articles Textile Textile Articles Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile Textile
यूनिफॉर्म फैब्रिक एवं निर्यात क्षेत्र से नये ऑर्डर का इन्तजार

यूनिफॉर्म फैब्रिक एवं निर्यात क्षेत्र से नये ऑर्डर का इन्तजार

By: Textile World Date: 2020-08-07

अन्य विकल्प के रूप में शर्टिंग, फर्निशिंग एवं गारमेंट उत्पादन में संभावना तलाशते उद्यमी

भीलवाड़ा/ कमलेश व्यास

संपूर्ण विश्व जगत को संकट में डालने वाली इस महामारी ने भारतीय अर्थव्यवस्था को भी काफी हद तक कमजोर किया है। इसी क्रम में स्थानीय वस्त्र मंडी भी संकट के दौर से गुजर रही है। गौरतलब है कि शहर में सूटिंग उत्पादन का कुल मासिक उत्पादन 8 से 9 करोड़ मीटर होने लगा था, जो वर्तमान समय में लगभग 25 से 30 फ़ीसदी रह गया है। स्थानीय टेक्सटाइल उद्योग में सूटिंग फैब्रिक विभिन्न सेगमेंट में बनाई जा रही है जिसमें पीवी एवं डाइड में विशेष पहचान है, परंतु लॉकडाउन खुलने के बाद घरेलू बाजार में विशेष मांग नहीं निकलने से हालत बेहतर नहीं है। कुछ राहत के रूप में कई राज्यों की शर्टिंग एवं दुपट्टे के जोब ऑर्डर आने से माल बनाया जा रहा है, जिसमें मुंबई के ऑर्डर भी शामिल हैं क्योंकि मुंबई कपड़ा बाजार लगभग बंद पड़ा है। महामारी के इस दौर में स्थानीय उद्यमी अन्य सेक्टर में संभावनाएं तलाश रहे हैं, जिसमें शर्टिंग के साथ ही होम फर्निशिंग, बेडशीट, मेडिकल सेक्टर एवं गारमेंट उत्पाद भी अन्य विकल्प के रूप में बन सकते हैं, जिससे आगामी समय में मण्डी के टर्नओवर में इजाफा हो सकता है।

 

पिछले दिनों राजस्थान टेक्सटाइल मिल्स एसोसिएशन एवं मेवाड़ चेंबर के तत्वावधान में वेबीनार का विशेष आयोजन किया गया। इसके अंतर्गत बेंकिंग सेक्टर से इंडस्ट्री को क्या फायदा हो साथ ही इण्डस्ट्री के विकास हेतु विचार विमर्श किया गया। इस दौरान राजस्थान टेक्सटाइल मिल्स एसोसिएशन के चैयरमेन श्री एस एन मोदानी ने बताया कि इस समय हमें मजबूती से कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि आगामी नवंबर माह तक व्यापार पुन: पटरी पर आने लगेगा। साथ ही यह राजस्थान टेक्सटाइल इंडस्ट्री विशेषत: भीलवाड़ा आज हर तरीके से सक्षम है। यहां की इण्डस्ट्री स्वयं की इन-हाउस प्रॉडक्शन सुविधाओं से सुसज्जित है। इंडस्ट्री आगामी 5 से 7 वर्षों में सूटिंग सेगमेंट के साथ अन्य प्रॉडक्ट में अच्छा डवलपमेंट कर दुगुना टर्नओवर कर सकती है। इस अवसर पर चेंबर के सचिव श्री आर के जैन, नितिन स्पिनर्स के डायरेक्टर श्री दिनेश नौलखा, आर एस डब्ल्यू एम के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री बीएम शर्मा आदि ने इंडस्ट्री में आ रहे तात्कालिक व दूरगामी प्रभावों के साथ साथ आगामी योजनाओं पर अपने अपने विचार रखे।

इस अवसर पर लघु उद्योग भारती भीलवाड़ा के अध्यक्ष श्री महेश हुरकट, भीलवाड़ा ट्रेड फेडरेशन के अध्यक्ष श्री दामोदर अग्रवाल, उपाध्यक्ष श्री अतुल शर्मा आदि गणमान्य उद्यमियों एवं संस्थाओं के अधिकारियों ने शिरकत की।

 

एके स्पिनटेक्स के टेक्निकल प्रेसिडेंट श्री अरुण सिंह ने बताया कि एक्सपोर्ट क्षेत्र में पुराने आर्डर लगभग समाप्ति की ओर हैं और अब नए ऑर्डर मिलने पर निगाहें हैं क्योंकि ईद निकल चुकी है, चाइना से कितना कारोबार कम हुआ है एवं भारतीय बाजार निर्यात क्षेत्र में कितना बढ़ा है, जो अब नए ऑर्डर आने पर पता चलेगा।

 

श्री सिंह ने कहा कि स्कूल खुलने के निर्णय पर निगाहें टिकी हैं। अगर स्कुले खुलते हैं तो यूनिफॉर्म के आर्डर मिलने लगेंगे। वर्तमान में काम 25 से 30 प्रतिशत हो रहा है, जिसमें यूनिफॉर्म फैब्रिक भी शामिल है।

Latest News

© Copyright 2020 Textile World